प्रबंधन

ज्ञानकृति की स्थापना IIT के पूर्व छात्रों द्वारा की गई है, जिनका उद्देश्य उच्च स्तरीय गुणवत्ता व नैतिकता से समाहित संचालन करना है ज्ञानकृति विद्यालय का संचालन योग्य व अनुभवी शिक्षाविदों द्वारा किया जाता है।

योगराज पटेल (सह-संस्थापक एवं अकैडमिक निदेशक) yograj@gyankriti.com

योगराज ने IIT मुंबई से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में B.Tech और M.Tech किया है। उन्होंने पहले IIM अहमदाबाद और IIT मुंबई में ‘शिक्षा में ICT के उपयोग’ से संबंधित अनुसंधान परियोजनाओं पर काम किया है। आप CISCE के दिशानिर्देश के अनुसार पाठ्यक्रम निर्माण, नियोजित पाठ्यक्रम के कार्यान्वयन और शिक्षक प्रशिक्षण की देखरेख करते हैं। कला, संस्कृत और योग के लिए योगराज की रुचि ने पूरे ज्ञानकृति परिवार में कला और प्राचीन भारतीय परंपरा की एक प्रभावशाली संस्कृति को जन्म दिया है। आप विद्यालय में नवीनतम सूचना प्रौद्योगिकी संसाधन उपलब्ध कराने के लिए सदैव तत्पर रहते हैं।

अक्षय गुप्ता (सह-संस्थापक एवं प्रशासन निदेशक) akshay@gyankriti.com

अक्षय IIT मुंबई से केमिकल इंजीनियरिंग में B.Tech हैं। आपने उद्यमिता के लिए रुझान के चलते अपनी स्नातक की डिग्री के समय प्लेसमेंट छोड़कर ज्ञानकृति शुरू करने का निर्णय लिया। आप विद्यालय के प्रशासनिक कार्यों के लिए उत्तरदायी हैं , जिससे संसाधनों का उचित उपयोग हो और विद्यालय सुचारु रूप से चले। आप प्रमुख रणनीतिक निर्णयों में महत्तवपूर्ण भूमिका निभाते हैं , और विद्यालय की नीतियों को तैयार करते हैं। प्रकृति के प्रति आपके प्रेम ने विद्यालय कैंपस में बड़ी संख्या में पेड़ सुनिश्चित किए है।

राघवी गुप्ता (उप निदेशक) – raghvi.gupta@gyankriti.com

राघवी ने SVIST इंदौर से B.E (ECE) और IIT BHU (वाराणसी) से M.Tech (कम्युनिकेशन सिस्टम इंजीनियरिंग) किया है। आप ज्ञानकृति से पहले NXP इंडिया के लिए इंटीग्रेटेड सर्किट डिज़ाइन इंजीनियर के रूप में काम करती थीं। राघवी मानती हैं कि बच्चों के लिए सीखना एक भयावह प्रक्रिया नहीं बननी चाहिए, बल्कि इसे हर्षमय, निरंतर और संवादात्मक बनाया जाना चाहिए। राघवी ने ज्ञानकृति के विज्ञान और प्रौद्योगिकी पाठ्यक्रम के विकास में बहुत योगदान दिया है।

रचना सक्सेना पटेल (उप निदेशक) – rachana.saxena@gyankriti.com

रचना सिक्किम मणिपाल विश्वविद्यालय से प्रबंधन में स्नातक है। आपने रिलायंस एविएशन और डेक्कन चार्टर्स के साथ काम करते हुए एक एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर के रूप में अपना करियर शुरू किया, लेकिन आपका सच्चा प्यार न तो प्रबंधन था और न ही इंजीनियरिंग। आप एक स्केच कलाकार हैं और ललित कला और शिल्प प्रेमी भी। आप एक जीवंत व्यक्ति है जो बच्चों के साथ रहना पसंद करती है। रचना ज्ञानकृति के शुरुआती दिनों से ही हमसे जुड़ी हुई हैं और उन्हें पूर्व-प्राथमिक और प्राथमिक कक्षाओं के लिए शिक्षण और पाठ्यक्रम विकास का समृद्ध अनुभव है। आपको हिंदी भाषा पाठ्यक्रम एवं उसके शिक्षक प्रशिक्षण में विशेष रुचि है।